कबूर खुला पड़ल आहे || Kabur Khula Aahe Lyrics||Sadri Easter Song||Divine Melody Ranchi

ना डरावा नारीमन स्वरग दूत कहलैं -2

कबूर खुला पड़ल आहे प्रभु नखैं कबूर में -2

जावा जाईके सोब के बतावा मुक्तिदाता

प्रभु येसु जी उठी गेलैं

सचे येसु जी उठी गेलैं -2

प्रभु येसु जी उठी गेलैं

1.दुनिया पाप केर बोझ से दुःख सहते दबल रहे

प्रभु से मनवा केर रिसता

कमजोर और टूटल रहे -2

प्रभु से मनवा के मिलाएक ले

येसु देलैं प्राण क्रूस काठे

मोरल पाछे तीसर दिने जी उठी गेलैं

सचे येसु जी उठी गेलैं –

2. नारीमन गेलैं बताएक ले

येसु केर चेला मनके

करलैं नी विश्वास सुइनके

येसु केर जी उठल के -2

दुई चेला कबूर देखे गेलैं

येसु केर गतर के नी पालैं

पाप से आजाद करके लगिन जी

उठी गेलैं

सचे येसु जी उठी गेलैं -2

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,589FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles