Friday, January 27, 2023
HomeBlogईश्वर कौन है? Who is God? Christian Message

ईश्वर कौन है? Who is God? Christian Message

येशु मशी के नाम में, में आप लोगो का स्वागत  करता , जय मशी की ..

मेरे प्रियो आज हम जानेगे की ईश्वर कोन है…या हम ये भी बोल सकते है की आखिर सच्चा ईश्वर कोन है ?.. वह ईश्वर कोन है जिसने पृथ्वी और सारे  ब्रह्माण्ड की रचना की ..

वह ईश्वर कोन जिसने मनुष्यों को और जो कुछ इस पृथ्वी पर है उसे बनाया.. आखिर वह ईश्वर कोन है  जिसने नुह और उसके परिवार की रक्षा की ..जिसने अब्राहिम और सरह  को अशिस दी .. आखिर वो ईश्वर कोन है जसने मिश्र में 10 विपतिया भेजी , जिसने लाल समुद्र को दो भागो में विभाजीत किया .. जिसने इब्राहीम के वांसो को इस्राएल राष्ट्र प्रदान क्या.. आखिर वो ईश्वर  कोन है जिसने नबियो से बाते  की ,, जिसने पापियों को बचाने के लिए अपने एकलौते पुत्र येशु मशी को इस धरती पर भेजा .. वह ईश्वर कोन हो जो ये प्रितिग्य करता है की वह  इस पृथ्वी को अपने पुत्र द्वारा नयी श्रृष्टि बनयेगा जहा पर न दुःख होगा न क्लेश .. जहा पर उसके चुने हुए धर्मी निवास करेंगे … मेरे प्रियो आज हम इस लेख के माध्यम से जानेगे की आखिर साचा परमेश्वर कोन है ,, बाइबिल हमे क्या बताती है …

परमेश्वर कहते है मै अल्फा और ओमेगा हु , जो ग्रीक वर्णमाला का पहला अक्षर और अंतिम अक्षर है, जिसका अर्थ होता है सुरुआत और अंत , सर्वशक्तिमान ईश्वर को हम अपने दिमाग से नहीं समझ सकते है .. जब हम उसकी  सृष्टि को देखते हैं तो हमें ये थोडा मालुम होता है की आखिर सर्वशक्तिमान ईश्वर होने का क्या अर्थ है, हमारा  मानव मन परमेश्वर  की स्वर्शक्तिमता  को नहीं समझ सकता  हैं… अगर हम परमेश्वर  को अपने दिमाग से समझ सकते हैं तो वह परमेश्वर नहीं हो सकता, हम  एक अनंत परमेश्वर  को सीमित मन में फिट नहीं कर सकते है .. जैसा की यशायाह 66:1 में लिखा है “आकाश मेरा सिंहासन और पृथ्वी मेरे चरणों की चौकी है;” अगर परमेश्वर सारे स्वर्ग में नहीं समता तो क्या वह हमारे सिमित मन में समासकता  है ….मेरे दोस्तों कोई भी इंसान यह नहीं कह सकता कि वह कैसा दिखता है लेकिन प्रियो बाइबिल  हमें सही बताया है कि परमेश्वर  एक आत्मा है जो स्वर्ग और पृथ्वी पर अपनी महिमा और शक्ति को प्रदर्शित करता  है। प्रियो बाइबिल हमें ये भी बताती है की स्वर्ग में उसके सिंहासन के सामने 24 बुजुर्ग और स्वर्गदूत उसके सामने उपस्थित रहते है….

ईश्वर ने अपनी पूर्णता और शक्ति से पूरी दुनिया की रचना की, वह दुनिया की उत्पत्ति से पहले से अस्तित्व में है, जैसा की हम उत्पत्ति अध्याय 1 पद  2 में पड़ते है “और पृथ्वी बेडौल और सुनसान पड़ी थी; और गहरे जल के ऊपर अन्धियारा था: तथा परमेश्वर का आत्मा जल के ऊपर मण्डलाता था”।मेरे प्रियो इससे हमें एक बात स्पस्ट हो जाता है की  परमेश्वर  दुनिया के शुरू से पहले से  थे…

प्रियो वह सर्वशक्तिमान ईश्वर है… कोई भी व्यक्ति उस  पर सवाल नहीं उठा सकता है, मेरे दोस्तों आज हम बाइबिल की 5 पाठ पे मनन करेंगे जो हमें परमेश्वर के बारे में बताती है ..

परमेश्वर आत्मा है

यूहन्ना – अध्याय 4 :24 कहता है  परमेश्वर आत्मा है, और अवश्य है कि उसके भजन करने वाले आत्मा और सच्चाई से भजन करें..  मेरे प्रियो हमारे आध्यात्मिक क्षेत्र में उनत्ति इस  बात पर निर्भर करता है की हम परमेश्वर के साथ आत्मा में केतने घनिष्ट सम्बन्ध रखते है .. हम परमेश्वर के आत्मा के बिना कभी भी उसकी उपस्थिति में नहीं आ सकते है ..परमेश्वर  न केवल हमारे श्रृष्टि करता  हैं, बल्कि एक आत्मा हैं और जो कोई भी उसके उपस्थिति में काम करना चाहता है, उसे आध्यात्मिक रूप से उसकी आत्मा और सच्चाई से आराधना  करनी चाहिए…और इसलिए प्रियो परमेश्वर का वचन कहता है की  वे जो सरीर  मे जीवन जीते है वे परमेश्वर को कभी भी प्रसन नहीं कर सकते है … मनुष्य और ईश्वर के बीच का संबंध आध्यात्मिक है इसलिए मनुष्य को आत्मा में नए जन्म लेने की जरुरत है …

ईश्वर प्रेम है

प्रियो बाइबिल हमें बताती है ईश्वर प्रेम है .. जैसा की योहन्ना 3 :16 में लिखा है “क्योंकि परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम रखा कि उस ने अपना एकलौता पुत्र दे दिया, ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे, वह नाश न हो, परन्तु अनन्त जीवन पाए।”… मेरे प्रियो ये वचन हमें स्पस्ट रूप से बताती की हमारा परमेश्वर एक प्रेमी पिता है .. जिसने हमसे इतना प्यार किया है की उसने अपने एकलौते पुत्र को भी हमारे लिए बलिदान चड़ा दिया..जिसे हमें ये मालूम होता है की प्रेम का अर्थ बलिदान है जिसे परमेश्वर ने हमारे लिए किया है …मेरे प्रियो परमेश्वर हमारे  लिए अपने प्यार को पूरा करने के लिए निरंतर हम  पर दृष्टि बनाये रखता है ,, जैसा बाइबिल बताती है वह आपके बारे में सब कुछ जानता है ,जब आप बैठते हैं तो वह जानता है,, और जब आप उठते हैं तो वह जानता है ,,आप के सोचने से पहले आपके हर एक विचार को जानता है,,, वह जानता है कि आप क्या करने जा रहे हैं इससे पहले कि आप वह  करें, वह आपकी सभी इच्छाओं को जानता है, वह जानता है कि आपके दिल में क्या है,प्रियो परमेश्वर ने अपने एकलौते बेटे को भेजा यह जानते हुए की वह अपने को बलिदान कर देगा और हमारे  लिए मर जाएगा…उसने वह सब किया जो सिर्फ हमें  बचाने के लिए करना  था, ताकि हम उसके साथ अनन्त जीवन का मौका पा सके ..मेरे प्रियो जब दुनिया डूब रही थी तब उसने एक  उद्धारकर्ता को भेजा …अगर हमारी सबसे बड़ी जरूरत सूचना होती तो वह एक शिक्षक भेजते अगर हमारी सबसे बड़ी जरूरत प्रौद्योगिकी होती उन्होंने एक वैज्ञानिक भेजा होता और अगर हमारी सबसे बड़ी जरूरत पैसे की होती तो वह हमें एक अर्थशास्त्री भेजते, लेकिन चूंकि हमारी सबसे बड़ी जरूरत माफी थी, उन्होंने एक उद्धारकर्ता को भेजा, उन्होंने आपको चुना, लेकिन क्या आप उन्हें चुनते हैं,वे आपसे प्यार करते हैं, लेकिन क्या आप उनसे प्यार करते हैं …जब आप खो गए थे उन्होंने आपको पाया ,,,जब आप टूट गए तो उन्होंने आपको ठीक किया,,, और जब आप रोए उन्होंने आपको दिलासा दिया,,वह आपके लिए सबसे अच्छा चाहता है… आप उसके लिए कीमती हैं.. वह आपको कभी नुकसान नहीं पहुंचाना चाहेगा… लेकिन फिर भी हम उसे चोट पहुंचाते हैं.. हम जानते हैं कि वह पाप से नफरत करता है और फिर भी हम  इस तरह से कार्य करते है जिसे परमेश्वर प्रसन नहीं होते….परमेश्वर  ने हमें अपने सहित के नियम  हमारे  हित केलिए  दिए हैं पर जब हम उसकी आज्ञावो  का पालन नहीं करते  और जब सब कुछ गलत होता है तो हम उसे ही दोष देते हैं..प्रियो यदि केवल आप उसकी आज्ञाओं का पालन करते है तो आप को कभी भी अंशु बहाने की जरुरत नहीं होगी ..जब उसने हमें  बचाने के लिए अपने इकलौते बेटे को भेजा तो क्या वह हमें भूल सकता है ..कभी नहीं …

परमेश्वर सबसे महान  है

दोस्तों एक मनुष्य  की सुंदरता और महानता की तुलना हम परमेश्वर  के साथ नहीं कर सकते  क्योंकि हम यह नहीं बता सकते कि वह कितना बड़ा है  1 राजा 8 :27 वचन कहता है “क्या परमेश्वर सचमुच पृथ्वी पर वास करेगा, स्वर्ग में वरन सब से ऊंचे स्वर्ग में भी तू नहीं समाता, फिर मेरे बनाए हुए इस भवन में क्यों कर समाएगा।”… मेरे प्रियो हमारा परमेश्वर इतना महान  है की वह आराधना और महिमा के योग्य है ..जब हम उसके बनाये हुए श्रृष्टि को देहते है तो हमें उसकी महिमा करनी चाये … बाइबल कई बार परमेश्वर के हाथों की बात करती है ताकि हम समझें सके कि वह बहुत शक्तिशाली परमेश्वर है ..दोस्तों  बाइबल कभी-कभी उसके मुंह के बारे में बात करती है जिसे की  हम  यह जाने की  उसके बोलने से ही सब पूरा हो जाता है …बाइबिल हमें परमेश्वर  की आंखों के बारे में भी बताती है जिससे की  हम समझ सके  कि उसके दायरे और दृष्टि के बाहर कुछ भी नहीं होता हैऔर परमेश्वर  सब कुछ देखता है …

परमेश्वर  हर जगह है

मेरे प्रियो परमेश्वर  हर जगह है.. यिर्मयाह 23:24 “क्या कोई ऐसे गुप्त स्थानों में छिप सकता है, कि मैं उसे न देख सकूं? क्या स्वर्ग और पृथ्वी दोनों मुझ से परिपूर्ण नहीं हैं? प्रियो परमेश्वर हर समय हर जगह हैं और हमारे गुप्त से गुप्त बातो को जानता है और वह चाहता  है की हम एकांत मे भी पवित्र जीवन जिए , हम अपवित्र जीवन जी कर  परमेश्वर  को नहीं समझ सकते हैं क्योंकि परमेश्वर  पवित्र है,, उनके शब्दों में पवित्रता का कई बार उल्लेख किया गया है क्योंकि यह उन्हें देखने का एकमात्र मानदंड बन जाता है।

परमेश्वर सबसे महान  है

मेरे प्रियो इस  बात से फर्क नहीं पड़ता की कोई मनुष्य या आत्मा केतना बुद्धिमान या शक्तिशाली है वह कभी भी परमेश्वर की बराबरी नहीं कर सकता , परमेश्वर सबसे महान  है .. जैसा की पवित्र वचन कहता है गिनती की पुस्तक 23 :19 में “ईश्वर मनुष्य नहीं, कि झूठ बोले, और न वह आदमी है, कि अपनी इच्छा बदले। क्या जो कुछ उसने कहा उसे न करे? क्या वह वचन देकर उस पूरा न करे?”

मेरे प्रियो परमेश्वर मनुष्य नहीं है ,,वह  कभी कमजोर नहीं होता  हैं उनकी शक्ति कभी विफल नहीं होती है.. वह चमत्कार करता है और सभी राष्ट्रों के बीच अपने नाम की प्रशंसा करता है, उसके  नाम के माध्यम से सैतान  झुकते हैं और उसे सर्वशक्तिमान ईश्वर कहते हैं, उसकी शक्ति से किसी की तुलना नहीं की जा सकती है ..वह पूरी दुनिया को अपने हाथों में संभाला हुआ  है जो ये  दर्शाता है कि वह कितना शक्तिशाली ईश्वर है ..उसे कोई नहीं देखा सकता है क्योंकि उसकी रचना उसके लिए बोलती है और इसलिए सारा  महिमा उस परमेश्वर  को दी जानी चाहिए… क्योकि वह आराधना और महिमा के योग्य है ..और परमेश्वर  के बारे में एक अद्भुत बात दोस्तों यह है कि उसकी  व्यक्तिगत आत्मा को आप जान सकते हैं .. और उसके  दोस्त भी बन सकते है .. क्योकि बाइबिल हमें बताती है की  अतीत में उसके दोस्त रहे हैं और  हम बाइबिल में देखते हैं कि लोग परमेश्वर के दोस्त बन  जाते हैं..बस हमें जरुरत है  उसके लिए अपने  दिल खोल देने की और उसके अज्ञाओ का पालन करने की और वह आपका दोस्त बन जाएगा, उस पर पूरे दिल से भरोसा करें और न की अपने समझ पर .. और वह आपका दोस्त बन जाएगा..

मेरे प्रियो  उम्मीद है कि आपने इस लेख द्वारा   परमेश्वर  के बारे में और अधिक सीखे  होगा , मै ये आग्रह करता हु  कि आप परमेश्वर  के बारे में अधिक जानने और समझने के लिए बाइबिल पढ़ें.. 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Lyrics

Recent Comments